www.ranatharu.org

बाईबल की काहानी

बिज बोनकी कहानी

बो फिर समुन्दरके ढाहो किनारे बो शिक्षा देनलागो बाके चारौघेन भीड़ यित्नो भरी भव की बो समुन्दरमें भव एक नईयामें चाढो और बोमे बईठो| आदमी समुन्दर के किनारे ढाहोम बईठेरहै| और बो उनके कहानिमें बाहुत बात सिखई| बो अपनों शिक्षामें उनसे अईसे कही: "सुनव 'देखओ, एक जनै बिज बोन बालो आदमी बिज बोनके निक्रो और बोएके देखि कुई बिज डगर में पडे और बिज चीरइं चुरगनि आएके खाए डारी| कुई बिज पत्थर बारे ठाँउमें पडे, जहाँ बहुत माटी नाए रहै, और माटीकी गहेराई ना हुईके, बे हल्दी जमिगए| घामु एक्दम् जोडसे नीक्रो पीछू पिङगा डुङ्गए, जर नहुइके बे सुक्गए| कुई बिज काँटोन् के बिचमे पढे| काँटो बढो और पेण निसास्दै, और बामे फरा ना लगे |पर् कोही बिज अच्छी जमिनमे पडे, और जमे और बाढके तीस गुना, साठ गुना, और सओ गुना फरा दई| ”और बो कहि, “जउनको सुनन कान है, बो सुनए| ”जब बो इकल्लो भाव, तओ बाहृ जनै चेला और बोके अस्पिस भए, बो उनसे कहनीके बारेमे पूछी| बो उनसे कहि, “परमेश्वर को राज्यको रहस्य तुमके दए गौहए, पर बहिर बरेनसे सब कहनीमें कएहै,की बे देखन त देखत है, तर देख नाए पाथै, सुन्न त सुनथै् ,तर बूझात नहए, नत बे पश्चाताप करते,और बिनको पाप छमा हुईतो| ” बो उनसे कही, “तुम जा कहनीको अर्थ बूझेनए? तओ और सब कहनी अर्थ कईसे बूझइगे? बिज बोनबारो बचन बोथै| कोई आदमी डगर में बोए भए बिज कता है| जब बे बचन सुन्थै् ,तओ तुरन्त शैतान अथए और बिन्मे बूओ बचन लैच्लो जाथए| अईसिकरके पत्थर बारे ठाँउमे बोए भए जेहि है, जउन जब बचन सुन्थै तओ खुशीसाथ तुरन्त बे गरहण करलेथै| तओ उनको अपनो जर नएलगो के करण थोरि देर तक खाली बे टिक्थै| तओ जब बचन को करण संकट अथबा सताबट अथए, तओ बे तुरन्त गिर जाथै्| काँटोके बिचमे बोए भाए जेहि है, जउन बचन सुन थए, तओ जा संसारको चिन्ता और धनको लोभ और चीजको लालच अएके बचनके निसास देथै,| तओ बे फलबन्त हुई नए पथए| तओ अच्छी जामिनमें बोए भए जेहि है, जउन बचन सुनत हए, और गरहण करथै, और फरा देथै तीस गुना, साठ गुना, और सव गुना|”